(Betelgeuse) आर्द्रा तारा की चमक हो रही है कम, Betelgeuse है खत्म होने की कगार पर

(Betelgeuse) आर्द्रा तारा की चमक हो रही है कम 
Vlt से पता चला 


रात के आसमान में आर्द्रा तारा दसवां सबसे चमकदार तारा है. और ओरियन के नक्षत्र में rigel के बाद दूसरा सबसे चमकदार तारा है. लाल रंग का अर्ध गोलाकार तारा जोकि (eso) दक्षिणी यूरोप वेधशाला के द्वारा देखा गया आर्द्रा तारा की  चमक में कमी आई. यह नक्षत्र का एक बहुत ही बड़ा लाल चमकदार तारा है इसकी चमक जनवरी 2019 से दिसंबर 2019 में कम हो गई इसकी चमक के साथ इसके आकार में भी बहुत परिवर्तन देखा गया.

हम लोग आप अपना पूरा जीवन आसमान में चमकदार आर्द्रा तारा को अपनी नंगी आंखों से एक चमकदार तारे के रूप में देखते हैं अचानक से उसका चमकना कम होने लगा है उसकी चमक उसकी असल चमक की 36 % कम हो गई है हम नग्न आंखों से भी यह बदलाव देख सकते हैं. एक खगोलिय सिद्धांत है कि 1 दिन ये आर्द्रा तारा खत्म हो जाएगा!



14 फरवरी 2020  इसकी पुरानी व नई तस्वीर जारी की गई जिसमें इसकी चमक के साथ-साथ इसके आकार के बदलाव को भी देखा जा सकता है. यह सोने इसे (vlt) very large telescope की सहायता से देखा जो कि chile में है.


अगर हम तस्वीर के दिसंबर महीने में चौका देने वाला परिणाम हमारे सामने आया बीटल किसकी एक चौका देने वाली तस्वीर सामने आई जो यह सो नाइस में होने वाले बदलावों को दिखा रही थी तस्वीर में इसकी पहली और बाद की तस्वीर है. यह तस्वीर बताती है कि कितनी मात्रा में इसकी चमक कम हो चुकी है vlt की मदद से एक तस्वीर जनवरी में दूसरी तस्वीर दिसंबर महीने में ली गई दिखाई दिया. इसमें देखा कि ये कितना पतला हो गया है एक  लाल महादानव तारा आर्द्रा तारा इसके बारे में खगोलिय सिद्धांत है कि 1 दिन खत्म हो जाएगा. पर eso ने कहा कि यह अभी नहीं होने वाला!

इसके अध्ययन के लिए भी एलटी की आवश्यकता होगी धूल की किरणों से उत्सर्जित होती अवरक्त किरणें इस तस्वीर में दिखाई दे रही है. यह धूल के बादल जो इस तस्वीर में है. यह उस समय दिखाई देते हैं. जब वह तारा अपना मलवा अंतरिक्ष में छोड़ने लगता है. यह धूल का  हिस्सा जोकि इसे पूरी तरीके से ढक लेता है. और जो लाल बिंदु तस्वीर में है. आर्द्रा तारा है जिसका आकार ब्रहस्पति की कक्षा के बराबर है! 

0 Comments: