Different types of birds feet and legs in hindi (पक्षियों के पैर और पंजों के प्रकार )

Birds feet (पक्षियों की पंजों से पहचान)

पैर की उंगलियों की व्यवस्था (toes arrangement) 


(1) anisodactyl - यह पक्षियों में सबसे ज्यादा पाया जाने वाला पैर है, पहली उंगली जिसे हैलक्स कहते हैं पीछे की ओर इशारा करती है और बाकी तीन उंगलियां आगे की ओर इशारा करती हैं, हमारे आस-पास पाए जाने वाले अधिकतर पक्षियों में इस तरह की उंगली वाला पंजा पाया जाता हैं, उदाहरण - कबूतर (pigeon) , गौरैया (sparrow) , jay's, Robin  इत्यादि!



(2) zegodactyl - यह पक्षियों में दूसरा सबसे ज्यादा पाया जाने वाला पंजा है, इसमें दो-दो उंगलियों के जोड़े होते हैं एक जोड़ा आगे की ओर और एक जोड़ा पीछे की ओर होता है, इसमें हैलक्स और 4 digit  के उंगली पीछे की ओर होती है और 3 और 2  digit आगे की ओर, इस प्रकार के पंजे से पेड़ों पर पकड़ बनाने में आसानी होती है, उदाहरण - उल्लू(owl) कठफोड़वा (woodpecker) , तोता (parrot) !


(3) tridactyl - इसमें केवल आगे की ओर तीन उंगलियां पाई जाती हैं, इस प्रकार के पंजे में hallux नहीं पाया जाता, उदाहरण - उत्तर में पाए जाने वाला कठफोड़वा (northern woodpecker), इमस (emus) और बस्टर्ड्स (bustards)!


(4) didactyl - इसमें केवल दो ही उंगलियां (digit) होती हैं, इस प्रकार के पंजे में भी हेलेक्स (hallux) नहीं पाया जाता है, शुतुरमुर्ग एकमात्र ऐसा पक्षी है जिसमें इस तरह का पंजा पाया जाता है!


(5) syndactyl- यह भी anisodactyl की तरह ही होता है पर इसमें 3 व 4 नंबर की (digit) उंगलि आपस में जुड़ी हुई होती हैं वह 2 digit अलग होती है यह coraciiformes की विशेषता होती है, उदाहरण - किंगफिशर (kingfisher) रोलर (roller), बी-ईटर (bee-eater) इत्यादि!



(6) pamprodactyl- इसमें सारी उंगलियां आगे की और होती हैं पर 1 व 4 नंबर की उंगली (digit)पीछे की ओर मुड़ भी सकती है!



(7) heterodactyl - यह भी zegodactyl की तरह होता है, इसमें भी दो-दो उंगलियों के जोड़े होते हैं पर इसमें 1 और 2 (digit) उंगली पीछे की ओर व 3 व 4 नंबर आगे की तरफ होती है, यह केवल tragons में पाया जाता है!



(8) raptorial - इस प्रकार के पंजे में मुड़े हुए धारदार नाखुन होते हैं जिनको Talons कह्ते है
उदाहरण - उल्लू, बाज!





पक्षियों के झिल्लीदार पंजे

(1) palmate - palmate में  2 व 4 नंबर की डिजिट या उंगली आपस में झिल्ली के द्वारा पूरी तरह से जुड़ी हुई होती है, बत्तख, कुल कलहंस, terns आदि में ये खूबी देखी जाती है इससे पानी में अधिक शक्ति लगाने में आसानी होती है जो कि तैरना आसान बनाता है!



(2) semipalmate - इसमें भी palmate की तरह 2 व 4 नंबर की उंगली झिल्ली के द्वारा जुड़ी हुई होती हैं परंतु इसमें झिल्ली बहुत ही कम मात्रा में होती है आधे से भी कम हिस्से में झिल्ली होती है!



(3) totipalmate - इसमें चारों उंगलियां पूरे तरीके से झिल्ली के द्वारा जुड़ी हुई होती हैं, उदाहरण - कोरमोरेंट (cormorant)!



(4) lobate - इसमें झिल्लीदार उँगलियाँ होती है, उदाहरण - greebe !



0 Comments: